मारेंगे नहीं लेकिन मानेंगे भी नहीं, संघर्ष जारी रखेंगे सपाई

पुलिस खोजती रही और सपा अध्यक्ष के नेतृत्व में पार्टी नेताओं ने कई गांवों में की पदयात्रा

जौनपुर। समाजवादी पार्टी के जिलाध्यक्ष लाल बहादुर यादव ने मंगलवार को किसान यात्रा के तहत एक बैठक में कहा कि सरकार पुलिस और प्रशासन की ताकत से किसानों की आवाज को दबाना चाहती है, लेकिन हम चुप नहीं बैठेंगे। हम मारेंगे नहीं, लेकिन मानेंगे भी नहीं, हमारा संघर्ष जारी रहेगा। पुलिस प्रशासन जिले के विभिन्न क्षेत्रों में प्रमुख सपा नेताओं को पकड़ कर रोक कर हाउस अरेस्ट करके विभिन्न तरीकों से किसान यात्रा निकालने से रोकने की कोशिश में जुटी है लेकिन सपा नेता किसी ना किसी तरह अपने कार्यक्रम को करने की कोशिश में जुटे हैं।‌

पुलिस आज सपा के जिलाध्यक्ष को खोजती रही और वे मल्हनी विधानसभा क्षेत्र के विभिन्न गांवों में चलाये जा रहे किसान यात्रा का नेतृत्व करते नजर आये। प्रशासन द्वारा सपाजनों को जहां लगातार हाउस अरेस्ट किया जा रहा है, वहीं सपा जिलाध्यक्ष पुलिस पकड़ से बाहर रहे। सपा अध्यक्ष के नेतृत्व में मल्हनी विस क्षेत्र के परियावा, पोखरिया, बैजारामपुर सहित अन्य गांवों में पैदल यात्रा करते हुये जगह-जगह बैठकें भी की गई। इस मौके पर श्री यादव ने कहा आज की भाजपा सरकार ने किसानों के विरोध में जो कानून बनाया है, हम समाजवादी लोग चुप नहीं बैठेंगे। इस कानून से किसानों की नहीं, बल्कि अडानी-अंबानी को फायदा होगा।

किसान को किसान के खेत में मजदूर बनाना चाहती है। सरकार किसान को अपने खेतों की फसल को औने-पौने दामों में बेचने को मजबूर करेगी। सरकार प्रशासन पुलिस के दम पर किसानों की आवाज दबाने का काम कर रही है। हम समाजवादी लोग चुप नहीं बैठेंगे। हमको प्रशासन जितना परेशान करेगी, हम किसान विरोधी कानून को खत्म कराकर ही दम लेंगे। हम मारेंगे नहीं लेकिन मानेंगे भी नहीं। हमारा संघर्ष जारी रहेगा। हम जेल जाने से डरने वाले लोग नहीं है। इस अवसर पर राहुल त्रिपाठी, अखिलेश जायसवाल, निजामुद्दीन अंसारी, चन्दशेखर यादव, जयहिंद यादव, रोहित यादव, महेश यादव, वेद प्रकाश यादव, रमेश, आकाश जायसवाल, आरबी यादव सोचन राम विश्वकर्मा, संदीप यादव सहित तमाम सपाजन उपस्थित रहे।

दूसरी तरफ दो दिन अपने आवास ताहिरपुर पर पुलिस द्वारा नजरबंद किये गए जिला पंचायत अध्यक्ष राज बहादुर यादव मंगलवार को भी पुलिस द्वारा हिरासत में लिए गए। वह पुलिस को चकमा देकर पोखरियापुर गांव में आयोजित किसान यात्रा के लिए निकले थे कि बरगुदर पुल के पास पुलिस ने उनको व सपा के जिला उपाध्यक्ष राजनाथ यादव सहित दर्जनों कार्यकर्ताओं को हिरासत में ले लिया। इस दौरान पुलिस से उनकी कहासुनी भी हुई।

पास ही स्थित पेट्रोल पंप पर हिरासत में लिए गए नेताओं सहित दस लोगों को लगभग पांच घंटे तक रोके रखा गया। मल्हनी विधायक लकी यादव को भी पोखरियापुर में सपा द्वारा आयोजित किसान यात्रा में जाने से पहले कोतवाली पुलिस ने उन्हें नगर स्थित आवास पर रोक लिया। लकी यादव का कहना है कि वह अपने क्षेत्र में किसान यात्रा में जाने को तैयार थे तभी शहर कोतवाल के नेतृत्व में पहुंची पुलिस ने उन्हें नजरबंद कर दिया। हालांकि पुलिस ने लकी यादव को नजरबंद करने से इनकार किया है।

Related Articles

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Back to top button