उत्तर प्रदेश पुलिस ने स्मरण किया पुलिस कलर से सम्मानित होने का दिन

जौनपुर। पुलिस झंडा दिवस के अवसर पर पुलिस लाइन में पुलिस अधीक्षक राज करन नय्यर द्वारा पुलिस झंडा ध्वजारोहण करके पुलिस महानिदेशक के संदेश को पढ़कर सुनाया गया। डीजीपी के संदेश का अनुकरण करने के लिए पुलिस कर्मियों को प्रेरित किया गया। इस अवसर पर एसपी ने पुलिस को संवेदनशीलता के साथ जनता की सेवा करने के लिए प्रेरित भी किया।

गौरतलब है कि पुलिस झंडा दिवस का यह ध्वज चरित्र को दर्शाता है। यह उस गौरवशाली इतिहास का प्रतीक है, जिसमें पुलिसकर्मियों ने देश सेवा, लोक सेवा में अपने कौशल, शौर्य और कर्तव्यपरायणता से अप्रतिम योगदान दिया है। इसमें सर्वोच्च आत्म बलिदान भी सम्मिलित है। कुरुक्षेत्र में कौरवों और पांडवाें के बीच हुए धर्म युद्ध में अर्जुन के रथ पर भी ध्वज पताका थी। ध्वज को धर्म की अधर्म पर विजय की प्रेरणा के तौर पर माना जाता है।

ध्वज कर्तव्य का पाठ और मूल्यों के लिए संघर्ष, समर्पण सिखाता है। चूंकि पुलिस या सेना भी समाज में बुराई को दंंडित कराने और अच्छाई जीवित रखने के लिए, बुराई पर अच्छाई की जीत के लिए कार्य करती है। इसीलिए पुलिस को उनके शौर्य के लिए सम्मानित करते हुए 23 नवम्बर 1952 को देश के प्रथम प्रधानमंत्री पंडित जवाहर लाल नेहरू ने उत्तर प्रदेश पुलिस को ‘पुलिस कलर’ (पुलिस ध्वज) प्रदान किया था। इसी दिन पीएसी को भी ध्वज प्रदान किया गया था। उत्तर प्रदेश पुलिस के वर्तमान पुलिस महानिदेशक हितेशचन्द्र अवस्थी है। आज़ादी के बाद बी. एन. लाहिरी उत्तर प्रदेश के पहले भारतीय पुलिस महानिरीक्षक बने थे। यह देश की सबसे बड़ी संख्या वाली पुलिस बल है। ट्विटर पर सर्वाधिक सक्रिय रहने वाली पुलिस होने का गौरव यूपी पुलिस को है। उत्तर प्रदेश पुलिस का ध्येय वाक्य “सुरक्षा आपकी संकल्प हमारा” है।

Related Articles

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Back to top button