जौनपुर के रामपुर और सुरेरी थाने को उड़ाने की धमकी से पुलिस कर्मियों में हड़कंप

तथाकथित 'डी-33' गैंग ने थाने पर ही पर्चा चस्पा करके क्षतिग्रस्त रामपुर-कठवतिया मार्ग को अक्टूबर तक ठीक कराने का दिया अल्टीमेटम

जौनपुर। रामपुर व सुरेरी थाने को ‘डी – 33 गैंग’ द्वारा उड़ाने की दी गई है। सुरेरी थाना परिसर के मुख्य द्वार पर स्थित बोर्ड पर गैंग द्वारा धमकी भरा पर्चा चस्पा किया गया था। समझा जा रहा है कि रात के अंधेरे में किसी ने यह चस्पा किया। सुबह यह पर्चा पढ़ते ही पुलिस महकमे के साथ स्थानीय लोग हतप्रभ रह गए। इस दुस्साहसिक मामले से पुलिस कर्मियों में हड़कंप मच गया। समूचा मामला चर्चा का विषय बना हुआ है।

जिले में बेहद तेज तर्रार पुलिस अधीक्षक को महकमे की कमान सौंपने के बावजूद आपराधिक घटनाएं थमने का नाम नहीं ले रही हैं। अब अवांछनीय तत्वों के हौसले इतने बढ़ गए हैं कि उन्होंने थाने को ही उड़ाने की धमकी थाने पर ही पर्चा चिपका कर दे डाली है। खबर है कि सुरेरी थाना परिसर के मुख्य गेट व बोर्ड पर सोमवार की सुबह चस्पा किया गया एक धमकी भरा पर्चा लोगों ने देखा। जिसे देखकर पुलिसकर्मी भी हतप्रभ रह गए।

चस्पा किए गए पर्चे में तथाकथित डी-33 गैंग के सदस्यों द्वारा यह कहा गया है कि बीते दो वर्षों से रामपुर-कठवतिया मार्ग क्षतिग्रस्त पड़ा हुआ है। इससे राहगीरों सहित एंबुलेंस व आम लोगों को काफी मुसीबतें झेलनी पड़ती है, लेकिन विभाग द्वारा इसकी मरम्मत नहीं कराई जा रही है। इसे विनती समझा जाए या धमकी, अगर अक्टूबर लास्ट तक इस टूटी हुई सड़क की मरम्मत नहीं कराई गई तो रामपुर थाना परिसर व सुरेरी थाना परिसर को उड़ा दिया जाएगा। पर्चे में इसकी सूचना जिलाधिकारी को देने के लिए भी कहा गया है। अपर पुलिस अधीक्षक ग्रामीण त्रिभुवन सिंह ने मीडिया से कहा है कि प्रथम दृष्टया इसे ‘शरारत’ समझा जा रहा है। मामले की जांच की जा रही है और जल्दी ही ऐसा करने वाले को पकड़ लिया जाएगा।

दूसरी तरफ एक सवाल उठा है कि तथाकथित ‘डी-33’ नाम के किसी आपराधिक गिरोह का अस्तित्व है भी या नहीं? सूत्रों के मुताबिक अपराधिक गिरोहों को अलग-अलग तरीकों से सूचीबद्ध किए जाने की पूर्व में व्यवस्था की गई थी। इनमें जिले की ही सीमा में अपराध करने वाले गिरोह को ‘डी गैंग’ के रूप में एसपी द्वारा सूचीबद्ध किया गया था।

Related Articles

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Back to top button