राजस्थान का पीड़ित परिवार अभी भी देख रहा प्रियंका की राह: सिद्धार्थ नाथ

छत्तीसगढ़ में जीप से श्रद्धालुओं को जीप से कुचल दिया जाता है, लेकिन जाना तो दूर, प्रियंका के मुंह से एक शब्द नहीं निकले . कैबिनेट मंत्री ने किया सवाल, यह कैसी राजनीति है? ‘मीठा-मीठा गप्प और कड़वा-कड़वा थू’ .

लखनऊ। कैबिनेट मंत्री और राज्य सरकार के प्रवक्ता सिद्धार्थनाथ सिंह ने कांग्रेस की राष्ट्रीय महासचिव प्रियंका गांधी वाड्रा पर करारा हमला किया है। उन्होंने कहा कि सत्ता के लिए लालायित कांग्रेस नेता प्रदेश में माहौल खराब करने की साजिश रच रहे हैं। कांग्रेस शासित राज्यों में अपराध पर प्रियंका गांधी वाड्रा गुंगी और बहरी हो जाती हैं। जबकि योगी सरकार में अपराधियों के खिलाफ सख्ती से कार्यवाही की जा रही है।

यह बातें उन्होंने बुधवार को पत्रकारों से बातचीत में कहीं। उन्होंने कहा कि राजस्थान का पीड़ित परिवार अभी भी प्रियंका की राह देख रहा है। हनुमानगढ़ में एक दलित युवक की पीट-पीट कर हत्या दी गई थी। छत्तीसगढ़ में जीप से श्रद्धालुओं को कुचल दिया गया, लेकिन जाना तो दूर, प्रियंका के मुंह से एक शब्द नहीं निकले। उन्होंने सवाल किया कि यह कैसी राजनीति है? ‘मीठा-मीठा गप्प और कड़वा-कड़वा थू’।

जिसने भी अपराध किया, उसे बख्शा नहीं जाएगा: सिद्धार्थनाथ

सिद्धार्थनाथ सिंह ने कहा कि आगरा में दलित युवक की मौत के मामले में उन सभी पांचों पुलिस कर्मियों को निलंबित कर दिया गया है, जो पूछताछ टीम का हिस्सा थे। उनके खिलाफ मुकदमा भी दर्ज कर दिया गया है। किसी भी सूरत में जिसने भी अपराध किया है, उसे बख्शा नहीं जाएगा। इसके अलावा मामले की जांच राजपत्रित अधिकारी करेंगे। सरकार की ओर से आर्थिक सहायता के रूप में मृतक के परिवार को 10 लाख रुपये मुआवजा भी दिया जा रहा है।

सपा, बसपा और कांग्रेस की सरकारों में चरम पर था गुंडाराज और भ्रष्टाचार

उन्होंने विपक्ष को घेरते हुए कहा कि सपा, बसपा और कांग्रेस की राजनीति जनता के शोषण की रही है। जब इनकी सरकारें थीं, तब इन्होंने कोई काम नहीं किया और अब सत्ता में आने के लिए लोगों को गुमराह करने की कोशिश कर रही हैं। जबकि इतिहास गवाह है कि जब-जब इनकी सरकार रही है, गुंडाराज और भ्रष्टाचार अपने चरम पर था। भाजपा सरकार में जनता ही सब कुछ है और उसी को ध्यान में रखकर हर कार्य किया जाता है।

Related Articles

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Back to top button