‘नो स्मोकिंग डे’ पर तम्बाकू छोड़ने के लिए चलाया गया हस्ताक्षर अभियान, दिलाई शपथ

'वाक फार नो टोबैको' पर निकाली स्वास्थ्य विभाग द्वारा जन जागरूकता रैली

जौनपुर। जिले में बुधवार को ‘नो स्मोकिंग डे’ मनाया गया। इस मौके पर सीएमओ आफिस के सभागार में गोष्ठी का आयोजन किया गया । साथ ही हस्ताक्षर अभियान चलाया गया। इस अवसर पर मुख्य चिकित्सा अधिकारी (सीएमओ) डॉ. राकेश कुमार ने ‘वाक फार नो टोबैको’ रैली को टीबी चिकित्सालय परिसर से हरी झंडी दिखाकर रवाना किया। इस मौके पर उन्होंने तम्बाकू सेवन के शरीर पर पड़ने वाले दुष्प्रभावों तथा तम्बाकू से होने वाले कैंसर के बारे में लोगों को विस्तार से जानकारी दी।

नोडल अधिकारी एवं एसीएमओ डॉ. राजीव कुमार ने बताया कि इस खास दिन का उद्देश्य सिगरेट तथा अन्य तम्बाकू सेवन के दुष्प्रभावों के बारे में लोगों में जागरूकता फैलाना और धूम्रपान करने वालों को इस आदत से छुटकारा दिलाने में उनकी मदद करना है। उन्होंने बताया कि दुनिया भर में लोगों को धूम्रपान छोड़ने के लिए प्रोत्साहित करने के लिए हर साल मार्च के दूसरे बुधवार को नो स्मोकिंग-डे मनाया जाता है।

उन्होंने कहा कि धूम्रपान या चबाने वाला तम्बाकू सबसे बुरी आदतों में से एक है। इसे किसी के लिए भी अपनाना आसान है लेकिन उतना ही ज्यादा स्वास्थ्य का जोखिम है। 12 से 17 वर्ष के हजारों युवा हर दिन धूम्रपान को अपनाते हैं। इससे हृदय रोग, ब्रोंकाइटिस, निमोनिया, स्ट्रोक, मधुमेह और कैंसर जैसी समस्याएं अपने लिए पैदा करते हैं। इसमें भी मुख का कैंसर तो आम है। इसके चलते अकाल मौत तक हो जाती है।

राष्ट्रीय स्वास्थ्य मिशन के जिला कार्यक्रम प्रबंधक (डीपीएम) सत्यव्रत त्रिपाठी ने कहा कि तम्बाकू सेवन से कोरोना वायरस के फैलने का खतरा और बढ़ जाता है। कार्यक्रम के अंत में सीएमओ ने सभी को तम्बाकू मुक्त महाभियान में सच्चे मन से भाग लेने की शपथ दिलाई। कार्यक्रम में कुंवर हरिवंश सिंह अवध पैरामेडिकल कालेज की छात्राओं ने भी भाग लिया।

इस मौके पर एसीएमओ डॉ. सत्य नारायण हरिश्चंद्र, डॉ. एसपी मिश्रा, डॉ. नरेंद्र सिंह, डॉ. आईएन तिवारी, डॉ. डीपी यादव, जय प्रकाश गुप्ता, देवेंद्र प्रसाद यादव तथा नान कम्युनिकेबल डिजीज (एनसीडी) सेल के सभी अधिकारी और कर्मचारी मौजूद रहे। “नो स्मोकिंग डे ” के अवसर पर जनपद के पुलिस लाइन, समस्त शाखा व थानों में शपथ ग्रहण कार्यक्रम का आयोजन कर व्यक्तिगत स्वास्थ्य एवं जन स्वास्थ्य की दृष्टि से स्वयं तम्बाकू का सेवन नहीं करने तथा समाज के सभी लोगों को तम्बाकू न सेवन करने के लिए प्रेरित करने की शपथ दिलायी गयी।

Related Articles

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Back to top button