जन सुनवाई में बड़े साहब के सामने अपनी फरियाद लेकर पेश हुए पुलिसकर्मी

जौनपुर। कलेक्ट्रेट परिसर स्थित पुलिस ऑफिस में बुधवार को जन सुनवाई की गई, लेकिन इस जन सुनवाई में इस बार आम जनता की शिकायतों को नहीं बल्कि पुलिस जनों की समस्याओं और शिकायतों की सुनवाई हुई। पुलिस अधीक्षक राजकरन नय्यर ने पुलिस ऑफिस स्थित अपने चेंबर में पुलिस कर्मियों की समस्याओं एवं शिकायतों को ध्यानपूर्वक सुना और ज्यादातर मामलों में उन्होंने त्वरित आदेश कर दिया। कुछ मामलों में कार्यवाही करके उनके निस्तारण का संबंधित पुलिस अधिकारियों को आदेश दिया गया। गौरतलब है कि पुलिस कर्मियों की ज्यादातर समस्या अपने जरूरी निजी कामों के लिए अवकाश न मिल पाने की होती है।

परिवार के किसी शादी ब्याह में शामिल होने, परिवार के किसी सदस्य की बीमारी का इलाज करवाने आदि जैसे मामलों को निपटाने के लिए उनके द्वारा मांगा गया अवकाश अमूमन ड्यूटी की भेंट चढ़ने लगता है। तकरीबन हर कामों में पुलिस की जरूरत पुलिस कर्मियों को अपने निजी कामों से दूर रखती है। लगातार सख्त और आवश्यक ड्यूटी ही सर्विस का हिस्सा होने के कारण उसमें छुट्टी की गुंजाइश बहुत ही कम होती हैं। इधर भी लगातार कोविड-19 की सख्त ड्यूटी, फिर त्यौहार चुनाव आदि मौकों के कारण पुलिस कर्मियों को ज्यादा व्यस्त रहता होता है। वर्क लोड के कारण अपने अफसरों से राहत न मिलने पर उन्हें बड़े दरबार में फरियाद करनी पड़ती है। अमूमन ऐसे प्रार्थना पत्रों को इकट्ठा करके एक साथ पुलिस अधीक्षक द्वारा निस्तारित किया जाता है।

Related Articles

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Back to top button