छह महीने पहले फांसी पर लटकी बालिका की मौत की विवेचना करने का पुलिस को आदेश

अदालत में मृतका की मां द्वारा नाबालिग पुत्री के यौन शोषण का प्रेमी पर आरोप

जौनपुर। न्यायिक मजिस्ट्रेट (द्वितीय) ने संदिग्ध हाल में प्रेमिका की मौत के मामले में आरोपित प्रेमी के विरुद्ध मुकदमा दर्ज करके विवेचना किए जाने का पुलिस को आदेश दिया है। घटना महराजगंज थाना क्षेत्र के एक गांव में करीब साढ़े छह माह पूर्व हुई थी। एक गांव की महिला ने दफा 156 (3) के तहत न्यायालय में प्रार्थना पत्र दिया था कि उसकी नाबालिग बेटी को पड़ोसी संतोष कुमार बिंद ने मोबाइल फोन में दो सिमकार्ड डालकर दिया था। धोखे से उसने मेरी बेटी का अश्लील वीडियो बना लिया और डरा-धमकाकर अश्लील बातें करता था। उस पर शारीरिक संबंध बनाने के लिए दबाव डालता था। इससे उसकी बेटी तनावग्रस्त रहती थी।

गत 22 अप्रैल को घर से कुछ दूरी पर बबूल के पेड़ में फांसी से लटका उसका शव मिला। गले पर खरोंच जैसे घाव भी थे। ऐसे में उसकी हत्या की गई या उसने आत्महत्या की यह स्पष्ट नहीं हो सका। इसका राज मृतका के मोबाइल फोन के काल डिटेल से खुल सकता है। मोबाइल फोन पुलिस चौकी इंचार्ज ने अपने पास रख लिया है। तहरीर दिए जाने पर थाना पुलिस ने मुकदमा भी दर्ज नहीं किया। आरोपित संतोष बराबर मुझे व स्वजनों को जान से मार डालने की धमकी दे रहा है। मामले की गंभीरता को देखते हुए अदालत ने थानाध्यक्ष महराजगंज को समुचित धाराओं के तहत मुकदमा दर्ज करके विवेचना करने और एक हफ्ते में आख्या अदालत में प्रस्तुत करने का आदेश दिया‌ है।

Related Articles

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Back to top button