कैश वैन गार्ड की हत्या के दोनों मुल्जिमों को पुलिस ने मार गिराया एनकाउंटर में

वारदात के कुछ घंटों के बाद ही सिंगरामऊ में मारे गए दोनों जौनपुर जिले के पुराने हिस्ट्रीशीटर

जौनपुर। जिले के सिंगरामऊ थाना क्षेत्र में आज तड़के पुलिस एनकाउंटर में दो शातिर अपराधी मारे गए। इन्हें एटीएम कैश लूटने की कोशिश में कैश वैन के गार्ड की गोली मारकर हत्या करने के बाद फरार होने वाले अपराधी बताये गए हैैं।  खबर मिली है कि बक्शा थाना क्षेत्र के धनियामऊ बाजार में सोमवार को अपराह्न करीब तीन बजे एजीएस कंपनी के कैश वैन गार्ड की गोली मारकर हत्या करने वाले दोनों अपराधियों को पुलिस ने 24 घंटे बीतने से पहले ही एनकाउंटर में मार गिराया।पुलिस अधीक्षक अजय साहनी के मुताबिक भोर में सिंगरामऊ थाना क्षेत्र के बहरा पीली नदी के समीप हाईवे और रेलवे क्रासिंग के पास अपराधियों की पुलिस से मुठभेड़ हुई है। गश्त के दौरान सिंगरामऊ थाने की पुलिस को दोनों अपराधियों के बारे में सूचना मिली। पुलिस ने उनकी घेरेबन्दी करते हुए आसपास के थानों और एसओजी को सूचना दी। मुठभेड़ के दौरान अपराधियों ने पुलिस पर फायरिंग की, जिसमें एक गोली सब इंस्पेक्टर की जैकेट को छूती हुई निकल गई, जबकि क्राॅस फायरिंग में एक सिपाही गोली से जख्मी हो गया।

जवाबी कार्रवाई में पुलिस ने दोनों अपराधियों को मुठभेड़ में मार गिराया। दोनों को जिला अस्पताल ले जाया गया, जहां चिकित्सकों ने उन्हें मृत घोषित कर दिया।एनकाउंटर होने की खबर से पूरे इलाके में सनसनी फैल गई। मारे गए अपराधियों में से एक की अभिषेक गौतम और दूसरे की नितिन मौर्य के तौर पर शिनाख्त हुई है। दोनों सिंगरामऊ और बदलापुर थाने के हिस्ट्रीशीटर बताए गए हैं। इनके ऊपर लूट और डकैती के कई मुकदमे दर्ज हैं। मारे गए अपराधियों के पास से एक 9 एम एम की सेमी आटोमैटिक पिस्टल, एक तमंचा, काफी संख्या में उनकी बुलेट और एक मोटरसाइकिल बरामद हुई है। प्रकरण की विवेचना की जा रही है।

मीडिया के सवालों का जवाब देते हुए पुलिस अधीक्षक अजय कुमार साहनी ने बताया कि धनियामऊ में एक दिन पहले हुई एटीएम कैश लूटने की कोशिश और कैश वैन गार्ड की गोली मारकर की गई हत्या की वारदात में यही दोनों अपराधी शामिल थे। दोनों को कैश वैन गार्ड द्वारा चलाई गई गोली के छर्रे लगे थे, जिसका इलाज कहीं करवाया गया था। एसपी ने धनियामऊ में सरेआम हुई वारदात में तीसरे अपराधी के शामिल होने से इन्कार किया है।

गौरतलब है कि सोमवार को एजीएस कंपनी के कर्मी व गार्ड कैश वैन से धनियामऊ के एटीएम में ट्रांजैक्शन करने गए थे। कैशियर के बैग लेकर एटीएम में घुसने के बाद शटर बंद कर गार्ड अवध नारायण चौबे (निवासी बीरबलपुर, कोतवाली मड़ियाहूं) बाहर रखवाली कर रहे थे। उसी समय पल्सर बाइक से पहुंचे गमछे से मुंह ढंके अपराधियों ने गोलियों से छलनी कर अवध नारायण चौबे की हत्या कर दी। गोलियां लगने से पहले गार्ड ने भी जवाबी फायरिंग की थी। वारदात के बाद अपराधी बदलापुर की तरफ भाग गए थे। पुलिस टीमें सरगर्मी से लुटेरों की तलाश में जुटीं थीं।

Related Articles

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Back to top button