उद्योग व्यापार मंडल के मंच पर व्यापारियों ने बिजली विभाग पर जम कर उतारा गुस्सा

मिर्ज़ापुर में आयोजित प्रदेश कार्यसमिति की बैठक में सभी प्रभावित दिखाई दिए किसान आन्दोलन से

मिर्ज़ापुर। उत्तर प्रदेश उद्योग व्यापार मंडल की यहां हुई प्रदेश कार्यसमिति की बैठक में व्यापारियों की बेशुमार समस्याओं का मुद्दा छाया रहा। बिजली विभाग से खास तौर पर त्रस्त व्यापारियों ने काफी नाराजगी दिखाई। हर व्यापारी नेता ने लगातार जारी किसान आंदोलन का जिक्र करते हुए उससे प्रेरणा लेकर संघर्ष करने का आह्वान किया। संगठन के पदाधिकारियों समेत सभी वक्ता इस बात पर एकमत दिखाई दिए कि किसानों की तरह बिना जुझारू संघर्ष के उनकी समस्या दूर होने वाली नहीं है।

उद्योग व्यापार मंडल के प्रान्तीय अध्यक्ष एवं पूर्व सांसद श्याम बिहारी मिश्र ने लाल डिग्गी स्थित लायंस स्कूल सभागार में रविवार को आयोजित इस विशेष बैठक को सम्बोधित करते हुए व्यापारियों की समस्याओं, संगठन के गठन एवं उसकी मजबूती, आगामी कार्यक्रमों आदि की विस्तृत चर्चा की। उन्होंने व्यापारी समस्याओं के समाधान के लिए किसानों की ही तरह एकजुट होकर जुझारू संघर्ष किए जाने को जरूरी बताया। अगले विधानसभा चुनाव का जिक्र करते हुए श्याम बिहारी मिश्र ने कि हमारे अधिक से अधिक व्यापारी भाई अपने पसंद की किसी भी पार्टी से विधानसभा का चुनाव लड़ें, हम सब पूरा समर्थन और सहयोग देंगे।

व्यापारी समुदाय से जुड़े लोग जितना अधिक विधानसभा में पहुंचेंगे हमारी राजनीतिक ताकत उतनी ही मजबूत होगी। चन्दौली की भाजपा विधायक एवं वहां के व्यापार मंडल की अध्यक्ष साधना सिंह ने संगठन की ताकत बढ़ाने जाने पर जोर दिया। इस मौके पर मौजूद मीरजापुर सदर क्षेत्र से भाजपा विधायक रत्नाकर मिश्र ने कोरोना काल में उद्योग और व्यापार क्षेत्र को हुए भारी नुक्सान की चर्चा की। कहा कि कोरोना के समय के व्यावसायिक विद्युत बिलों को माफ किए जाने की मांग उचित है।

प्रदेश कार्यसमिति की बैठक में मुख्य रूप से प्रदेश में नगर निगमों के द्वारा गृहकर, किराया व कचरा अपशिष्ट सहित अन्य दरों में अप्रत्याशित वृद्धि,‌ मण्डी समिति के टैक्स में एक प्रतिशत की और कमी किए जाने की मांग, प्रदेश भर में नगरों और कस्बों में व्यापार मंडल के गठन की प्रक्रिया जल्दी से जल्दी पूरा किए जाने, विद्युत विभाग के स्मार्ट मीटरों के तेज चलने पर एवं विद्युत दरों की वृद्धि से उत्पन्न समस्या, कोविड- 19 (कोरोना महामारी) से उत्तर प्रदेश के अनेकों व्यापारियों की मृत्यु होने पर क्षतिपूर्ति या बीमा योजना दिलाए जाने, खाद्य सुरक्षा एवं मानक अधिनियम 2006 में व्यापक सुधार की आवश्यकता तथा खाद्य सुरक्षा के अधिकारियों द्वारा रजिस्ट्रेशन व सेम्पल के नाम पर हो रही अवैध उगाही, प्रदेश में व्यापारियों के साथ आये दिन घट रही आपराधिक घटनायें व पुलिस द्वारा की जा रही वसूली पर विभिन्न जिलों से आए हुए व्यापारी नेताओं ने अपनी प्रतिक्रियाएं व्यक्त की। इस बैठक में प्रदेश संगठन की सदस्यता की रूपरेखा पर दिशा निर्देश जारी किए गए। आगामी विधानसभा चुनाव की चर्चा भी हुई। बैठक के प्रारंभ में ईश वंदना के बाद संगठन के दिवंगत पदाधिकारियों को श्रद्धाजंलि अर्पित करने के पश्चात् कुछ देर के लिए बैठक स्थगित कर दी गई थी।कार्यक्रम संयोजक विश्वनाथ अग्रवाल, प्रदेश मंत्री पूनम चन्द जैन, मीरजापुर व्यापार मंडल अध्यक्ष श्याम सुन्दर केसरी, गोवर्धन त्रिपाठी, विजय गुप्ता, राजेंद्र नाथ अग्रवाल, लल्लू राम मोदनवाल आदि ने पदाधिकारियों को चुनरी ओढ़ाकर सम्मानित किया। संगठन के प्रांतीय उपाध्यक्ष सूर्य प्रकाश जायसवाल ने प्रांतीय अध्यक्ष श्याम बिहारी मिश्र को स्मृति चिन्ह भेंट किया। इस अवसर पर जौनपुर के जिला अध्यक्ष दिनेश टंडन,राजदेव यादव, नगर अध्यक्ष राधेरमण जायसवाल, सोमेश्वर केसरवानी, लोकेश कुमार, प्रदेश मंत्री सुभाष अग्रहरि, सुधांशु, संतोष अग्रहरि आदि लोग भी साथ रहे।

Related Articles

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Back to top button