जौनपुर-आजमगढ़ हाईवे पर पंचहटिया में जाम के दौरान एक और हादसा, स्कूटी सवार अध्यापिका का पैर ट्रक ने कुचला

नाजुक हालत के कारण वाराणसी ट्रामा सेंटर रेफर, सिपाह तिराहे पर ब्रेक फेल होने से यात्री बस पेड़ से भिड़ी

जौनपुर। आजमगढ़ हाईवे पर स्थित पंचहटिया में सेंट पैट्रिक्स स्कूल के पास हर रोज लगने वाले भयंकर जाम के बीच से जल्दी निकलने की हड़बड़ी में मंगलवार को भी एक और दुर्घटना हुई। अपनी स्कूटी से विद्यालय जा रही उच्च प्राथमिक विद्यालय धर्मापुर की सहायक अध्यापिका नुजहत (48 वर्ष) दुर्घटना का शिकार होकर गंभीर रूप से घायल हो गई उन्हें इलाज के लिए सदर अस्पताल पहुंचाया गया जहां हालत नाजुक होने के कारण डॉक्टरों ने ट्रामा सेंटर वाराणसी के लिए रेफर कर दिया।

खबर मिली है कि इस सड़क पर रोज लगने वाले और घंटो रहने वाले सड़क जाम के बीच समय से स्कूल पहुंचने की कोशिश में स्कूटी सवार अध्यापिका एक ट्रक की चपेट में आ गई। पता चला है कि अध्यापिका का एक पैर ट्रक के पहिए से कुचल गया जिससे वह गंभीर रूप से घायल हो गई। दुर्घटना के बाद ट्रक चालक घटनास्थल से फरार हो गया, जबकि मौके पर पहुंची लाइनबाजार पुलिस ने दुर्घटना करने वाली ट्रक को अपने कब्जे में ले लिया। लाइनबाजार थाने की चौकिया पुलिस चौकी के प्रभारी ने घायल अध्यापिका को ऑटो से उपचार के लिए जिला अस्पताल भिजवाया। जहां प्राथमिक उपचार के बाद अत्यधिक रक्तस्राव के कारण नाजुक हालत देखते हुए उन्हें वाराणसी ट्रामा सेंटर के लिए रेफर कर दिया गया।

घायल अध्यापिका सदर कोतवाली थाना क्षेत्र अंतर्गत सिपा मोहल्ले की निवासिनी है और अविवाहित हैं। गौरतलब है कि क्षतिग्रस्त सड़क पर स्कूल जाने के समय खासतौर से रोज घंटों जाम लगता है और अक्सर ही दुर्घटनाएं हो रही हैं। अभी कुछ ही दिनों पूर्व एक बाइक सवार पिता-पुत्र की ट्रक से कुचलकर मौके पर ही मौत हो गई थी। एक अन्य समाचार के अनुसार उक्त दुर्घटना स्थल से करीब 100 मीटर दूर लगभग उसी समय इसी मार्ग पर स्थित सिपाह तिराहे पर एक बस का ब्रेक फ़ेल हो जाने से लोगों में अफरातफरी मच गई। दरअसल आज़मगढ़ मार्ग पर जाने के लिए रोज की तरह चालक सवारी भरने के लिए बस लेकर तिराहे पर खड़ा था। चालक ने ज्यों ही बस स्टार्ट की, वैसे ही ब्रेक फेल हो गया। ब्रेक फेल होने से घबराए बस चालक ने बुद्धिमानी दिखाते हुए अनियंत्रित बस को सामने खड़ी एक खाली बस, ई-रिक्शा व टेम्पो में टक्कर मारते हुए पेड़ से भिड़ा दिया। संयोग था कि इस हादसे में कोई घायल नहीं हुआ वर्ना किसी बड़ी दुर्घटना से इनकार नहीं किया जा सकता।

Related Articles

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Back to top button