किसानों के साथ अन्याय करने का मोदी सरकार पर आरोप, राष्ट्रपति को भेजा ज्ञापन

जौनपुर। जिला मुख्यालय पर सामाजिक संगठन सरदार सेना के जिलाध्यक्ष अरविन्द कुमार पटेल के नेतृत्व में राष्ट्रपति को संबोधित तीन सूत्रीय ज्ञापन प्रशासनिक अधिकारी को सौंपा गया। मांग की गई है कि देश भर के किसानों के हित में कृषि बिल 2020 वापस लिया जाय तथा सम्पूर्ण रूप से स्वामीनाथन रिपोर्ट लागू किया जाय। वर्तमान समय में देश भर के किसानों को दिल्ली पहुंचकर उन्हें अपनी बात रखने की आजादी दिया जाय।

संगठन के कार्यकर्ताओं का कहना है कि जहां एक तरफ केन्द्र सरकार द्वारा तीन अलग-अलग रूप में किसान विरोधी बिल 2020 लाकर देश भर के किसानों को सड़क पर उतरने को मजबूर कर दिया गया, वहीं जब हरियाणा,पंजाब, दिल्ली, उत्तर प्रदेश समेत तमाम प्रदेशों के किसान देश की राजधानी दिल्ली पहुंचकर मोदी सरकार के किसान बिल के खिलाफ अपनी आवाज बुलंद करना चाहते हैं तो प्रशासन द्वारा मारते- पीटते हुये लाठी एवं गोलियों के दम पर उन्हें रोका जा रहा है। सीधे तौर पर वर्तमान सरकार द्वारा लोकतंत्र की हत्या की जा रही है ।

इसी क्रम में किसानों की आवाज बुलंद करने वाले सरदार सेना सामाजिक संगठन ने इसे आंदोलन का रूप दिया है। जिलाध्यक्ष ने कहा है कि जहां एक तरफ केंद्र सरकार ने किसान विरोधी एमएसपी गारंटी कानून बिल 2020 लाकर देश भर के किसानों को सड़क पर उतरने को मजबूर कर दिया वहीं किसान विरोधी सरकार द्वारा किसानों के खेतों में पराली जलाने को लेकर लगातार किसानों के साथ अत्याचार एवं अन्याय हो रहा है। ज्ञापन में मांग की गई है कि देश भर के किसानों के हित में फसल मूल्य गारंटी कानून लागू किया जाय। सरदार सेना परिवार यह मांग करता है कि कृषि बिल 2020 तत्काल निरस्त किया जाय।

सम्पूर्ण स्वामीनाथन रिपोर्ट लागू किया जाय एवं वर्तमान समय में देश भर के किसानों को दिल्ली पहुंचकर उन्हें अपनी बात रखने की आजादी दिया जाय, ताकि लोकतंत्र की हत्या न हो। संगठन का आरोप है कि वर्तमान सरकार किसानों के हित में कोई कार्य नहीं कर रही है। बल्कि इसके विपरीत किसान विरोधी बिल 2020 लाकर किसानों को गर्त में डालने का कार्य किया है । भारत में किसानों की ऐसी दुर्दशा आजादी के 73 साल बाद भी दिख रही है।

हर तरफ पुलिस की लाठियां तथा सरकारों की साजिश का शिकार होना पड़ रहा है । सरकार को किसानों पर इस प्रकार से अत्याचार नहीं करना चाहिए, बल्कि देश का अन्नदाता खुश रहे ऐसा उचित उपाय निकालना चाहिए।इस मौके पर लव कुश पटेल,धीरज यादव,बृजेंद्र कुमार पटेल, राजकुमार सिंह,अमर बहादुर चौहान,विपिन पटेल, शाहआलम अंसारी,राजकुमार पटेल,अवधेश कुमार मौर्य एडवोकेट,अमित पटेल सहित तमाम कार्यकर्ता उपस्थित रहे।

Related Articles

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Back to top button