लक्ष्मण शक्ति की लीला में श्रीराम के विलाप से नम हुईं दर्शकों को आंखें

जौनपुर। खुटहन क्षेत्र के उसरौली शहाबुद्दीनपुर गांव में आदर्श रामलीला धर्ममण्डल के कलाकारों ने गुरुवार की रात लक्ष्मण शक्ति एवं मेघनाथ वध लीला का मंचन किया। रण क्षेत्र में चल रहे युद्ध में अपने को पराजित होते देख मेघनाथ ने लक्ष्मण के ऊपर शक्ति बाण का प्रयोग कर दिया। जिससे वह मुर्क्षित होकर गिर पड़े। यह दुखद समाचार जब रामादल में पहुंचा तो सभी दु:खी हो गए। वीर हनुमान युद्ध क्षेत्र में पहुंच कर लक्ष्मण को उठा कर प्रभु श्रीराम के पास ले आए। लक्ष्मण को मुर्छित अवस्था में देख कर प्रभु की आंखों से अंतर्वेदना के अश्रु बहने लगे। इस दुःख की घड़ी में प्रभु श्रीराम के विलाप को सुनकर दर्शकों की आंखें नम हो गई। उपचार हेतु सुषेन बैद्य के बताने पर हनुमान जी संजीवनी बूटी ले आए। बूटी खिलाते ही लक्ष्मण चेतन अवस्था में आकर खड़े हो गए। इस दृश्य को देखकर प्रभु राम,लखन के जयकारों से रामलीला परिसर गूंज उठा। लक्ष्मण के द्वारा मेघनाथ वध के बाद  सुलोचना विलाप की मार्मिक प्रस्तुति को लोगों ने खूब सराहा। मुख्य अतिथि इन्द्रपति पाण्डेय पूर्व प्रधानाचार्य ने बताया की ऐतिहासिक रामलीला मंचन में कोरोना संक्रमण के कारण पूरी तरह शारीरिक दूरी का पालन किया जा रहा है।इस दौरान राधेश्याम उपाध्याय, बद्री प्रसाद , मुन्ना पाण्डेय, संगम पाण्डेय, हमेश पाण्डेय , सुबाष चन्द्र पाण्डेय, राजन पाण्डेय, नारायण पाण्डेय अवधेश सिंह, सांवले शर्मा , सलमान शर्मा आदि विशेष रूप से उपस्थित रहे।

Related Articles

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Back to top button