भगवान चित्रगुप्त को पूजा कायस्थ समाज ने

जौनपुर। कायस्थ समाज ने रुहट्टा स्थित श्री चित्रगुप्त मंदिर में एकत्रित होकर भगवान चित्रगुप्त की प्रतिमा पर माल्यार्पण कर हवन पूजन किया गया। कार्तिक मास के शुक्ल पक्ष की द्वितीया को भाई दूज तो मनाते ही हैं साथ ही की जाती है चित्रगुप्त की पूजा। मान्यता है कि चित्रगुप्त देव लेखाकार हैं और मनुष्यों के पाप-पुण्य का लेखा-जोखा करते हैं। उनकी पूजा के दिन नई कलम या लेखनी की पूजा उनके प्रतिरूप के तौर पर की जाती है। कायस्थ या व्यापारी वर्ग के लिए चित्रगुप्त पूजा के दिन से ही नववर्ष का आगाज माना जाता है। चित्रगुप्त हिंदुओं के प्रमुख देवता माने जाते हैं। 
उपस्थित कायस्थ समाज को संबोधित करते हुए। अखिल भारतीय कायस्थ महासभा के प्रदेश महामंत्री राकेश कुमार श्रीवास्तव ने कहा कि पाप-पुण्य के अनुसार न्याय करने वाले न्यायकर्ता यमराज भी चित्रगुप्त महाराज के आज्ञा पालक है। चित्रगुप्त एक प्रमुख हिन्दू देवता है। जिस प्रकार शनिदेव सृष्टि के प्रथम दण्ड अधिकारी है उसी तरह भगवान चित्रगुप्त सृष्टि के प्रथम न्यायाधीश हैं। उन्हें न्याय का देवता माना जाता है। प्रत्येक कायस्थ को भगवान चित्रगुप्त की फ़ोटो अपने घर मे रखनी चाहिए। युवा जिलाध्यक्ष संजय अस्थाना ने कहा कि भगवान चित्रगुप्त के हाथों में कर्म की किताब व कलम दवात है। यह कुशल लेखक हैं और इनकी लेखनी से जीवों को उनके कर्मों के हिसाब से न्याय मिलता है। यम द्वितीया को भगवान चित्रगुप्त की पूजा प्रत्येक कायस्थ को करनी चाहिए। इस मौके पर अन्य वक्ताओं ने भी अपने विचार रखे।
इस अवसर पर संरक्षक आनंद मोहन श्रीवास्तव, सुभाषचंद्र लाल, महासचिव सुरेश अस्थाना, प्रदेश मंत्री रवि श्रीवास्तव, संगठन मंत्री श्याम रतन श्रीवास्तव, सरोज श्रीवास्तव, प्रमोद श्रीवास्तव, राजन स्वरूप वर्मा, अखिलेश श्रीवास्तव, डॉ संजय श्रीवास्तव, राजेश श्रीवास्तव, डॉ. रंजीत श्रीवास्तव, विजय श्रीवास्तव, गोरख श्रीवास्तव, अंजनी श्रीवास्तव, चित्रगुप्त सभा के जिलाध्यक्ष रमेन्द्र नाथ श्रीवास्तव, महासचिव श्यामलकांत श्रीवास्तव, उपाध्यक्ष राकेश सिन्हा, संयुक्त मंत्री मोहनशंकर श्रीवास्तव आदि लोग सम्मलित रहे।
कायस्थ कल्याण समिति द्वारा श्री चित्रगुप्त पूजन उत्सव एवं सम्मान समारोह बीआरपी इंटर कॉलेज के मैदान में आयोजित किया गया। मुख्य अतिथि विजय कुमार श्रीवास्तव मुख्य प्रबंधक उत्तर प्रदेश राज्य परिवहन निगम रहे। कार्यक्रम की शुरुआत में पंडित रजनीकांत द्विवेदी ने पूजन विधि विधान से कराया। कार्यक्रम की अध्यक्षता करते हुए समिति के अध्यक्ष डॉ. अशोक कुमार अस्थाना ने आए हुए सभी आगंतुकों एवं चित्रांश बंधुओं का स्वागत किया। कार्यक्रम में शिक्षा के क्षेत्र में विपिन श्रीवास्तव, प्यारेलाल श्रीवास्तव एवं श्रीमती प्रीति श्रीवास्तव को शिक्षा के क्षेत्र में उत्कृष्ट कार्य करने के लिए सम्मानित किया गया। समिति के पूर्व अध्यक्ष प्रदीप कुमार श्रीवास्तव पप्पू को समिति के उद्देश्यों को उत्कृष्ट ढंग से पूर्ण करने के लिए सम्मानित किया गया। कार्यक्रम का संचालन संस्था के महासचिव गौरव श्रीवास्तव एवं आभार ज्ञापन प्रदीप कुमार श्रीवास्तव ने किया। कार्यक्रम में मुख्य रूप से सुनील अस्थाना , प्रदीप कुमार अस्थाना, दिनेश श्रीवास्तव, ज्ञानचंद श्रीवास्तव, दयालशरण श्रीवास्तव, पुष्कर श्रीवास्तव ,अमित खरे ,राजेश किशोर, आलोक रंजन सिन्हा, विनीत श्रीवास्तव, आलोक श्रीवास्तव ,रंजन श्रीवास्तव, आशीष श्रीवास्तव, विपनेश श्रीवास्तव, गणतंत्र श्रीवास्तव, आशीष श्रीवास्तव ,महिला शाखा की अध्यक्ष श्रीमती डॉ. जान्हवी श्रीवास्तव,महामंत्री डॉ. मधुलिका श्रीवास्तव आदि लोगों ने अपनी सहभागिता से कार्यक्रम संपन्न कराया।

Related Articles

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Back to top button