अगले वर्ष से जौनपुर में शुरू हो जायेगा राजकीय स्वशासी मेडिकल कालेज

एमबीबीएस कक्षायें सितम्बर से से चलाने का लक्ष्य, बताया शहरी नियोजन राज्यमंत्री और प्रमुख सचिव स्वास्थ्य शिक्षा ने

जौनपुर। प्रदेश के आवास एवं शहरी नियोजन राज्यमंत्री गिरीश चंद्र यादव एवं प्रमुख सचिव, स्वास्थ्य शिक्षा विभाग आलोक कुमार द्वारा गुुुरुवार को कलेक्ट्रेट के मीटिंग हाल में पत्रकारों को निर्माणाधीन राजकीय मेडिकल कॉलेज के बारे में जानकारी दी गई। उन्होने कहा कि मेडिकल कालेज के निर्माण में कभी धन की कमी नहीं रही और न रहेगी। अब तक 300 करोड़ रूपये सरकार द्वारा कार्यदायी संस्था को प्रदान किया जा चुका है। जिसमें 220 करोड़ का कार्य पूरा हो चुका है और 80 करोड़ रूपये शेष बचे है। निर्माण तेजी से हो रहा है। इस बार बजट में 80 करोड़ रूपये निर्माण के लिए तथा 12 करोड़ अन्य मद में दिया गया। एक एक महीने की कार्य योजना बनाकर काम हो रहा है।

उन्होंने बताया कि आगामी एक सितम्बर से चयनित 100 एमबीबीएस अभ्यर्थियों की कक्षायें और 2022 तक पूरा मेडिकल कालेज चलाने का लक्ष्य है। एक सवाल के जबाब में राज्यमंत्री ने दावा किया कि निर्माण में गुणवत्ता से समझौता नहीं किया जा रहा है इसीलिए मानक के विपरीत लगाये खिड़की दरवाजे को कार्यदायी संस्था द्वारा उखाड़ा गया। कार्यदायी संस्था को पहले ब्लैक लिस्ट और बाद में उसे फिर से काम देने पर पत्रकारों ने तीखे सवाल उठाये। पत्रकारों ने कहाकि जिला अस्पताल में दवाओं का अभाव है लेकिन मंत्री और प्रमुख सचिव इस बारे में चुप्पी साधे रहे। राज्यमंत्री आवास एवं शहरी नियोजन गिरीश चंद्र यादव और प्रमुख सचिव, स्वास्थ्य शिक्षा विभाग आलोक कुमार द्वारा निर्माणाधीन उमानाथ सिंह राजकीय मेडिकल कॉलेज का स्थलीय निरीक्षण किया गया तथा कार्यदायी संस्था के अधिकारियों के साथ कलेक्ट्रेट सभागार में बैठक भी की गयी।

Related Articles

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Back to top button