प्रतिमाओं के विसर्जन के साथ ही पांच दिवसीय लक्ष्मी‌ पूजा महोत्सव सम्पन्न

जौनपुर। ज्योति पर्व दीपावली उत्सव श्रृंखला के पर्व धनतेरस पर स्थापित समृद्धि की देवी मां लक्ष्मी, अग्रदेव श्री गणेश एवं विद्या प्रदायिनी मां सरस्वती की प्रतिमाएं सोमवार को नगर के नखास स्थित विसर्जन घाट पर बने शक्ति कुंड में विसर्जित कर दी गई। विसर्जन श्री लक्ष्मी पूजा महासमिति की देखरेख में संपन्न हुआ। इस अवसर पर प्रशासनिक एवं पुलिस अधिकारियों सहित फोर्स भी मौजूद रही। कोविड-19 की गाइडलाइन का पालन करते हुए आज चार दिवसीय अनुष्ठान का समापन हुआ। दो दर्जन से अधिक प्रतिमाओं के विसर्जन पर श्री लक्ष्मी पूजा महासमिति के संरक्षक मंडल सहित तमाम पदाधिकारी व कार्यकर्ताओं ने अपने दायित्व का निर्वहन किया। नगर के विभिन्न मोहल्लों में बने अस्थाई पंडालों से सभी प्रतिमाएं विसर्जन घाट पहुंची।

विसर्जन समारोह के मुख्य अतिथि महासमिति के संरक्षक राकेश श्रीवास्तव और विशिष्ट अतिथि जिला उद्योग व्यापार मंडल के जिलाध्यक्ष श्रवण जायसवाल ने वर्तमान महामारी को देखते हुए शांतिपूर्ण ढंग से संपन्न हुये कार्यक्रम की सराहना किया। साथ ही महासमिति से जुड़े सभी लोगों के कार्यों की प्रशंसा की। इस अवसर पर महासमिति के अध्यक्ष चंद्रशेखर निषाद उर्फ बबलू और महासचिव लाल बहादुर यादव उर्फ नेपाली ने मुख्य एवं विशिष्ट अतिथि सहित प्रशासनिक एवं पुलिस विभाग के अलावा नगर पालिका के सहयोग के प्रति आभार जताया। इस अवसर पर संरक्षक मंडल के सदस्य डा. राम नारायण सिंह एवं रामजी जायसवाल, अखिल भारतीय यादव महासंघ के प्रदेश अध्यक्ष दिनेश यादव, संतोष यादव, अजीत सोनी, संजय अस्थाना, आशुतोष सिंह सोनू, संजीव यादव, अरशद कुरैशी, शिवचरण निषाद भल्लू, दीपक जायसवाल, नितिन जायसवाल, रोहित निषाद, बबलू यादव, उमेश कुमार, संजय शुक्ला सहित तमाम लोगों ने अपना सहयोग प्रदान किया। अंत में महासमिति के संस्थापक सुशील वर्मा एडवोकेट के आकस्मिक निधन पर शोक जताते हुए सभी ने उनको याद किया, कार्यक्रम में मौजूद उनके एकमात्र पुत्र विवेक वर्मा ने समस्त आगंतुकों एवं सहयोगियों के प्रति आभार व्यक्त किया।

Related Articles

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Back to top button