अदालत में सील खोलने पर मर्डर वैपन गायब मिलने के दोषी एसओ के खिलाफ एफआईआर दर्ज

3 वर्ष पूर्व जांच में पाए गए थे दोषी,अब तक रिपोर्ट दर्ज न होने का संज्ञान लिया एसपी ने

जौनपुर । हत्या में प्रयुक्त गन गायब होने पर तत्कालीन लाइनबाजार थानाध्यक्ष पर आखिर गाज गिर ही गयी। एसपी के आदेश पर सीओ सदर रणविजय सिंह ने तत्कालीन थानाध्यक्ष सूर्य नारायण यादव के विरुद्ध तहरीर देकर धारा 409 भारतीय दंड संहिता के तहत एफआईआर दर्ज करा‌ दिया है।
‌‌खबर मिली है कि लाइनबाजार थाना क्षेत्र में 2004 में हुई हत्या के मामले में संबंधित गन व कारतूस जांच के लिए विधि विज्ञान प्रयोगशाला भेजा गया था।‌ जांच के बाद माल सील मोहर हालत में यहां प्राप्त हुआ। दीवानी न्यायालय के संबंधित अदालत में विवेचक की गवाही के समय सील मोहर माल मंगाया गया। सील खोलने पर एसबीबीएल गन 11940 के स्थान पर पी 808 एवं कारतूस पाया गया अर्थात घटना में प्रयुक्त गन गायब हो गई। वर्ष 2017 में ही तत्कालीन पुलिस अधीक्षक ने तत्कालीन क्षेत्राधिकारी नृपेंद्र कुमार को जांच सौंपी।जांच में तत्कालीन थानाध्यक्ष सूर्य नारायण यादव दोषी पाए गए। जांच रिपोर्ट के बाद 16 नवंबर 2017 को पुलिस अधीक्षक ने मुकदमा दर्ज करने का आदेश दिया लेकिन 3 वर्ष बीतने के बावजूद एफआईआर दर्ज नहीं हुई। मामले की जानकारी होते ही वर्तमान पुलिस अधीक्षक राजकरन नय्यर ने इस पर कड़ी आपत्ति जताया। पुलिस अधीक्षक के आदेश पर लाइन बाजार में प्राथमिकी दर्ज की गई।

Related Articles

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Back to top button