जौनपुर के 6 केन्द्रों पर कोविड वैक्सीनेशन का ड्राई रन

मकर संक्रांति तक शुरू होना है टीकाकरण, पहले चरण में टीका 13200 स्वास्थ्य कर्मचारियों को - डीएम

जौनपुर। कोविड वैक्सीनेशन का पूर्वाभ्यास (ड्राई रन) मंगलवार को जिले के छह केन्द्रों पर किया गया। ड्राई रन का मतलब है बिना वैक्सीन के ही वैक्सीनेशन की सारी तैयारी करना और वैसे ही डमी लाभार्थियों के साथ पेश आना जैसा कि टीकाकरण के दिन करना है। प्रत्येक केंद्र पर 50-50 लोगों को टीका लगाने का अभ्यास किए जाने का निर्देश था। इस दौरान टीका लगाए बिना टीकाकरण की पूरी प्रक्रिया अपनाई गई।

ड्राई रन के लिए सभी तैयारियां एक दिन पहले ही पूरी कर ली गई थी। शहर में जिला अस्पताल, जिला महिला अस्पताल और राजकीय लीलावती अस्पताल में पूर्वाभ्यास किया गया। वहीं ग्रामीण क्षेत्र में रेहटी, बदलापुर और मड़ियाहूं सीएचसी पर वैक्सीनेशन का अभ्यास हुआ। राजकीय लीलावती अस्पताल में सीएमओ डॉ. राकेश कुमार, एसीएमओ डॉ. आर. के.सिंह, जिला प्रतिरक्षण अधिकारी डॉ. नरेंद्र और एएसपी सिटी डॉ. संजय कुमार की उपस्थिति में ड्राई रन अभियान शुरू हुआ। प्रत्येक केंद्र के लिए छह-छह सदस्यों की चार-चार टीम बनाई गई थी। इसके अलावा एक-एक नोडल अधिकारी भी नामित किए गए थे। सीएमओ डॉ. राकेश कुमार ने बताया कि पहले चरण में स्वास्थ्य कर्मचारियों का टीकाकरण होना है।

सूची में शामिल 50-50 स्वास्थ्य कर्मचारी हर केंद्र के लिए नामित किए गए हैं, जिन्हें पूर्वाभ्यास में शामिल किया गया। प्रत्येक केंद्र पर तीन-तीन कमरे बनाए गए हैं। इन्हीं में क्रमवार प्रत्येक कर्मी को टीकाकरण के लिए गुजरने की व्यवस्था की गई थी। पूर्वाभ्यास में यह जानने की कोशिश की गई कि स्वास्थ्य कर्मचारी टीका लगाने और लगवाने के लिए पूरी तरह दक्ष हो गए हैं या नहीं। ड्राई रन के जरिए टीकाकरण के दौरान होने वाली समस्याओं एवंअसुविधाओं को पहले ही समझ कर उनसे निपटने की तैयारी कर ली जाएगी।

जिला प्रतिरक्षण अधिकारी डॉ. नरेंद्र सिंह ने बताया कि ड्राई रन के दौरान स्वास्थ्य इकाइयों पर आने वाले मरीजों को से यह बताने के निर्देश पहले ही दे दिए गए थे कि टीका पूरी तरह से सुरक्षित है। पहला टीका लगने के बाद फिर 28 दिन बाद आना है। कोविड प्रोटोकॉल का पूरी तरह से पालन करना होगा। टीकाकरण के आधे घंटे बाद कोई दिक्कत होती है तो सीएचसी केंद्र अधीक्षक व एएनएम को सूचित करेंगे। अधीक्षक एंबुलेंस भेजकर मरीज को बुलाएंगे।

ड्राई रन अभियान की पूरी प्रक्रिया सभी संबंधित लोगों को बता दी गई थी। पहले चरण में अधीक्षक के मोबाइल पर 25 लोगों की सूचना डाली गई, दूसरे चरण में सीएचसी पहुंचने पर सुरक्षा गार्ड द्वारा लिस्ट में नाम देखकर अंदर भेजा गया, तीसरे चरण में सीएचसी के अंदर उसके आधार नंबर की जांच की गई, चौथे चरण में थर्मल स्कैनिंग, मास्क और सेनेटाइजर का प्रयोग करवाने के बाद पांचवें चरण में एएनएम द्वारा आधा घंटा उन्हें बैठाकर टीकाकरण के बारे में पूरी जानकारी दी गई। इसके पूर्व डीएम दिनेश कुमार सिंह ने सोमवार की देर शाम कलेक्ट्रेट सभागार में कोविड-19 वैक्सीनेशन के तैयारियों की समीक्षा की।

मकर संक्रांति तक टीकाकरण शुरू होना है। डीएम ने इससे पहले सभी तैयारियां पूरी करने को कहा। डीएम ने बताया कि ड्राई रन के बाद मकर संक्रांति तक टीकाकरण शुरू हो जाएगा। पहले चरण में 13200 स्वास्थ्य कर्मचारियों को टीका लगाया जाएगा। 25 केंद्रों पर सप्ताह के दो दिन सोमवार और शुक्रवार को टीकाकरण होगा। बचे हुए लोगों का टीकाकरण अगले सप्ताह के सोमवार को किया जाएगा। तीन दिन में टीकाकरण पूरा कर लिया जाएगा। किन्हीं कारणों से जो कर्मचारी छूट जाएंगे, उन्हें शुक्रवार को टीके लगाए जाएंगे। बैठक में एसपी राजकरन नय्यर, एडीएम वित्त रामप्रकाश, एएसपी सिटी डॉ. संजय कुमार, सीएमओ डॉ. राकेश कुमार, एसीएमओ डॉ. आर.के. सिंह, जिला प्रतिरक्षण अधिकारी डॉ. नरेंद्र आदि मौजूद रहे।

Related Articles

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Back to top button