जौनपुर के डॉ. नीरज वर्मा को केजीएमयू से स्वर्ण पदक

जौनपुर। किंग जार्ज मेडिकल विश्वविद्यालय के दीक्षांत समारोह में जौनपुर के डॉ. नीरज वर्मा को ‘सूरत कुमार लाल स्वर्ण पदक’ मिला है। प्रांतीय चिकित्सा सेवा में कार्यरत डॉ. नीरज ने वहां से एमडी कोर्स किया है। गांव के विद्यालय से हिंदी माध्यम में पढ़ाई कर इस मुकाम पर पहुंचे नीरज ग्रामीण इलाकों मेें ही सेवा करना चाहते हैं। वह अपने परिवार के पहले चिकित्सक हैं और उनकी उपलब्धि पर गांव को गर्व है। मछलीशहर तहसील के परसुपुर गांव के डॉ. नीरज के पिता लाल मदन चंद वर्मा किसान हैं।

वह गांव के प्रधान भी रह चुके हैं। मां मनोरमा देवी गृहिणी हैं। तीन भाइयों में दूसरे नंबर पर नीरज ने गांव के विद्यालय से पढ़ाई शुरू की। महानगर ब्वायज इंटर कॉलेज से बारहवीं की पढ़ाई करने के बाद सीपीएमटी में 157 वीं रैंक हासिल कर केजीएमयू में दाखिला लिया। एमबीबीएस करने के बाद प्रांतीय चिकित्सा सेवा में चले गए। दो साल सरकारी सेवा में रहने के बाद उनका चयन एमडी के लिए हो गया। वर्ष 2017 से 2020 तक उन्होंने एमडी किया। वह अपनी सफलता का श्रेय माता-पिता के अलावा बड़े पिता कन्हैया राम पटेल, चचेरे भाई राहुल पटेल, सचिन पटेल, अंकित वर्मा को देते हैं। डॉ. नीरज की पत्नी नीता वर्मा बागपत में होमगार्ड कमांडेंट हैं।

Related Articles

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Back to top button