जौनपुर की बड़ी सर्राफा फर्म कीर्ति कुंज ज्वेलर्स पर सीबीआई की रेड

आईपीएस दामाद की आय से अधिक सम्पत्ति मामले में ससुराल वालों से लंबी पूछताछ , शाहगंज के शराब कारोबारी भाजपा नेता सांसत में, अब ईडी टीम का लगा फेरा .

जौनपुर। शहर के बड़े सर्राफा कारोबारी और प्रतिष्ठित कीर्ति कुंज ग्रुप के चेयरमैन नन्हे लाल वर्मा के घर और ऑफिस (एक ही में है) पर सीबीआई की टीम ने छापेमारी की है। शाहगंज में शराब कारोबारी भाजपा नेता के प्रतिष्ठानों पर आईटी की छापामारी के बाद सीबीआई की इस कार्रवाई से शहर भर में हड़कंप मच गया है। हालांकि पता चला है कि सर्राफा कारोबारी के आईईएस दामाद की आय से अधिक संपत्ति मामले में सीबीआई लखनऊ की टीम ने ये छापेमारी की है।

शहर कोतवाली क्षेत्र के चहारसू चौराहे पर नन्हे लाल सेठ की प्रसिद्ध सर्राफा फर्म कीर्ति कुंज ज्वेलर्स है। वह कीर्ति कुंज के नाम से स्थापित विभिन्न फर्मों के ग्रुप के चेयरमैन हैं। इसी सर्राफा फर्म के ऊपर उनका आवास भी है। शुक्रवार सुबह सीबीआई की टीम स्थानीय पुलिस साथ छापेमारी के लिए पहुंची। पुलिस सूत्रों ने बताया कि नन्हे लाल सेठ के आईईएस (भारतीय इंजीनियरिंग सेवा) दामाद नवनीत लखनऊ में तैनात हैं। नवनीत के खिलाफ आय से अधिक संपत्ति होने का आरोप है। सीबीआई इस मामले की जांच कर रही है। जांच के क्रम में ही सीबीआई की एक टीम नवनीत के ससुराल पहुंची।

सीबीआई द्वारा ससुराल के लोगों से गहन पूछताछ की जा रही है। शहर के व्यस्ततम क्षेत्र चहारसू चौराहे पर सीबीआई टीम की मौजूदगी के समय तमाशाबीनों की काफी भीड़ जुटी रही। उधर शाहगंज के शराब कारोबारी भाजपा नेता ओमप्रकाश जायसवाल के भाई प्रदीप जायसवाल की शराब बिक्री का पैसा जमा करने वाले कलेक्शन सेंटर पर बृहस्पतिवार को प्रवर्तन निदेशालय (ईडी) की टीम ने भी छापा मारा। करीब 12 घंटे तक चली कार्रवाई के दौरान टीम ने कई दस्तावेज अपने कब्जे में ले लिए। ईडी टीम के मुताबिक सहारनपुर के टपरी स्थित डिस्टलरी से टैक्स चोरी की जांच के क्रम में छापामारी की गई है। सहारनपुर के टपरी स्थित डिस्टलरी को-ऑपरेटिव कम्पनी लिमिटेड में डिस्टलरी मालिक, यूनिट हेड व आबकारी विभाग के अधिकारियों द्वारा मिल कर 100 करोड़ की सालाना टैक्स चोरी का मामला सामने आया था।

इस प्रकरण में पूछताछ के दौरान एक ड्राइवर ने भाजपा नेता ओम प्रकाश जायसवाल के शराब गोदाम के मैनेजर संतलाल का भी नाम लिया था। जिसके बाद उन्हें आबकारी आयुक्त के स्तर से नोटिस भेजा गया था और बयान दर्ज कराने के लिए तलब भी किया गया था। इसी कड़ी में बृहस्पतिवार को दो गाड़ियों से ईडी की टीम भाजपा नेता के शराब के कारोबार कलेक्शन सेंटर पर पहुंची। रात करीब साढ़े आठ बजे कार्रवाई पूरी कर टीम अपने साथ कई दस्तावेज भी ले गई। हालांकि इनकम टैक्स के बाद ईडी की छापामारी से त्रस्त भाजपा नेता ओम प्रकाश जायसवाल ने बताया कि हर जिले के संदिग्ध सीएल-2 सी के गोदामों की जांच – पड़ताल की जा रही है। इसी क्रम में ईडी की टीम आई थी।

Related Articles

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Back to top button