हर-हर महादेव और बम-बम के जयकारे से गूंज उठे सभी शिव मन्दिर

जौनपुर। महाशिवरात्रि के पर्व पर गुरुवार को जिले के सभी शिवालयों पर भक्तों की भीड़ ब्रह्म मुहूर्त में से ही जुटने लगी जो देर शाम तक जारी रही। मंदिर के कपाट दर्शनार्थियों के आने के पूर्व ही खुल गये थे। जब दर्शन करने वालों की भीड़ बढ़ने लगी तो वहां के व्यवस्थापकों में महिला और पुरुष की दो-दो लाइन लगवाकर दर्शन कराये। शांति व्यवस्था कायम रखने के लिए पूर्व में ही जिला प्रशासन ने जिले के कुछ नामचीन मंदिरों पर सैक्टर मजिस्ट्रेट के अलावा संबंधित थाने की पुलिस तैनात कर दी गयी थी। गुरुवार के दिन महाराजगंज थाना क्षेत्र के सईनदी तट स्थित काशी करशूलनाथ धाम पर दर्शनार्थियों की भीड़ पहुंचने लगी।

सबसे पहले भक्तों ने नदी में स्नान कर शिव मंदिर पर पहुंचकर मत्था टेका।तदन्तर बगल स्थित नागा संत मौनी बाबा के आश्रम में पहुंचकर दर्शन किया। इसी प्रकार जिले के केराकत तहसील अन्तर्गत त्रिलोचन महादेव पर दर्शन करने वालों की भीड़ रही। वहां पर शांति व्यवस्था कायम रखने के लिए थानाध्यक्ष जलालपुर के अलावा तहसीलदार केराकत चक्रमण कर रहे थे।

इसी कड़ी में नगरीय क्षेत्र गोमती नदी के तट पर स्थित गूलरघाट, गोपी घाट, अचला देवी मंदिर, बलुआ घाट स्थित गौरीशंकर महादेव मन्दिर, पुरानी बाजार स्थित पांचों शिवाला, रासमंडल स्थित उमेशोनाथ मन्दिर, पालिटेक्निक चौराहा के कृषि परिसर में स्थित महादेव मंदिर और रोडवेज परिसर के मंदिर पर श्रद्धालुओं की भीड़ सुबह से ही लग गयी। इन मंदिरों पर दर्शनार्थी के दर्शन कराने के लिए जहां मंदिर के पुजारी मौजूद थे वहाँ पर सुरक्षा की दृष्टिाकोण से कई चौकी इंचार्ज के अलावा शहर कोतवाल और थानाध्यक्ष लाइन बाजार निगरानी कर रहे थे। देर शाम तक शिव मन्दिरों में काफी चहल-पहल रही।

इस वर्ष महाशिवरात्रि के कार्यक्रम मंदिरों तक ही सीमित रहे, परंपरा के अनुसार प्रशासन की अनुमति न मिलने से हर वर्ष निकाली जाने वाली शिव बारात का आयोजन नहीं हो सका।मछरहट्टा स्थित दाऊजी मंदिर में श्रीकृष्ण रसिया संकीर्तन मंडल द्वारा विशेष यज्ञ और बारह घंटे के हरि कीर्तन का आयोजन किया गया था। मछलीशहर क्षेत्र के दियावा महादेव सोमनाथ मंदिर में सुबह से ही भक्तों की कतार लगी रही। मछलीशहर कोतवाल और नायब तहसीलदार मछलीशहर ने मेला में आए हुए दर्शनार्थियों की सुरक्षा को ध्यान में रखते हुए मंदिर के अंदर व मंदिर के बाहर महिला पुलिस कर्मियों को तैनात किया था।

सुजानगंज मछलीशहर रोड पर फरीदाबाद में स्थित श्री गौरीशंकर धाम पर महाशिवरात्रि पर भोर में 5 बजे मंदिर का दरवाजा खुलते ही हर-हर महादेव का जयकारा लगाते हुए लाइन में लगे श्रद्धालुओं ने शिव जी को जल, बेलपत्र, धतूर, गाय का दूध, भांग, काला तिल, गंगाजल, नीलकंठ और पुष्प अर्पित कर भक्ति भावना के साथ पूजा अर्चना करते हुए जल चढ़ाना शुरू कर दिया।

सुरक्षा की दृष्टि से सुजानगंज के साथ साथ आस-पास के थानों का पुलिस बल मौजूद रहा और सेक्टर मजिस्ट्रेट के रूप में तहसीलदार मछलीशहर चक्रमण कर रहे थे। बख्शा थाना में शंभूगंज के पास स्थित साईंनाथ मंदिर पर भी प्रात:काल से ही भक्तों की भीड़ पहुंचने लगी और एक-एक करके भक्तों ने शिव लिंग पर जलाभिषेक किया। भीड़ को नियंत्रित करने के लिए थानाध्यक्ष बख्शा पुलिस जवानों के साथ लगे रहे तो प्रशासन की ओर से नियुक्त सेक्टर मजिस्ट्रेट तहसीलदार सदर चक्रमण कर रहे थे।

Related Articles

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Back to top button