पुलिस अभिरक्षा में छिनैती के मुल्जिम की मौत के बाद उग्र लोगों का बक्शा थाने पर पथराव- कई पुलिस कर्मी घायल

थाना अध्यक्ष सहित चार पुलिसकर्मी निलंबित घटना की मजिस्ट्रीयल जांच के आदेश, डीएम और एसपी थाने एवं मृतक के घर पहुंचे-परिजनों को दिया न्याय का आश्वासन

जौनपुर। पुलिस हिरासत में छिनैती के एक अभियुक्त की मौत हो जाने से आज जिले में हड़कंप मच गया। उसे बक्शा थाने की पुलिस और क्राइम ब्रांच की टीम गिरफ्तार करके बक्शा थाना लाई थी, जहां रात में हालत खराब होने पर उसे अस्पताल पहुंचाया गया लेकिन उसकी मौत हो गई। जिला मजिस्ट्रेट मनीष कुमार वर्मा ने मीडिया को बताया कि अपर जिला मजिस्ट्रेट राम प्रकाश को घटना की मजिस्ट्रीयल जांच सौंपी गई है। उन्होंने कहा कि जांच के उपरांत जो लोग दोषी पाए जाएंगे उनके खिलाफ सख्त कार्रवाई की जाएगी। दूसरी तरफ अभियुक्त के मरने की जानकारी होते ही उसके परिजनों और ग्रामीणों की भीड़ थाने पर जुट गई। आक्रोशित भीड़ ने थाने का घेराव करते हुए पथराव कर दिया। पथराव से एक उप निरीक्षक समेत कई पुलिसकर्मी घायल हो गए। सभी घायलों का जिला अस्पताल में उपचार कराया गया।

खबर मिली है कि कृष्णा यादव उर्फ पुजारी पुत्र तिलकधारी यादव (निवासी चक मिर्जापुर) को क्राइम ब्रांच की टीम ने छिनैती के आरोप में हिरासत में लिया था। उसे बख्शा थाने लाकर पूछताछ की गई। आरोप है कि इस दौरान पीटने के कारण उसकी हालत 1:30 बजे रात में बिगड़ गई। पुलिस उसे बदलापुर सामुदायिक स्वास्थ्य केंद्र ले गई जहां हालत खराब देख कर उसे जिला अस्पताल भेज दिया गया, अस्पताल में उसकी मौत हो गई। घटना से आक्रोशित परिजनों और ग्रामीणों ने थाने का घेराव कर लिया इस दौरान हुए पथराव से एक दरोगा और कुछ पुलिसकर्मी घायल हो गए जिन्हें अस्पताल पहुंचाया गया सूचना मिलने पर जिलाधिकारी और पुलिस अधीक्षक भारी संख्या में पुलिस फोर्स के साथ थाने पहुंच गए।

जिलाधिकारी मनीष कुमार वर्मा तथा पुलिस अधीक्षक राजकरन नय्यर ने बक्शा थानान्तर्गत ग्राम चक मिर्जापुर पहुंच कर मृतक कृष्णा यादव के परिजनों से मुलाकात भी की। कृष्णा यादव के परिजनों ने घटना के दोषी लोगों के विरुद्ध कार्रवाई किए जाने और उन्हें गिरफ्तार करने की मांग की जिस पर अधिकारियों ने उन्हें आश्वासन दिया कि दोषियों के खिलाफ सख्त कार्रवाई की जाएगी तथा परिजनों को न्याय दिलाया जाएगा। उन्होंने कहा कि जिला प्रशासन परिजनों के साथ है तथा उन्हें हर संभव सहायता दी जाएगी।

पुलिस अधीक्षक राजकरन नय्यर ने त्वरित कार्यवाही करते हुए थानाध्यक्ष और तीन अन्य पुलिस कर्मियों को निलंबित कर दिया है। उन्होंने कहा कि निलंबन इसलिए किया गया है जिससे मामले की जांच प्रभावित न होने पाए। उन्होंने घटना के संबंध में बताया कि 1 फरवरी को शिव गुलाम गंज में हुई सीनरी के आरोप में कृष्णा यादव उर्फ पुजारी की गिरफ्तारी हुई थी। उसकी निशानदेही पर छीनी गई रकम में से ₹64000 की बरामदगी भी हो गई। इसके अतिरिक्त उसके घर से लूट के कई मोबाइल भी बरामद हुए हैं। उसे थाने पर लाया गया था। जहां रात में उसने पेट में दर्द होने की शिकायत की। उसे सीएचसी बदलापुर पहुंचाया गया। जहां से जिला अस्पताल रेफर कर दिया गया। वहां उसकी मौत हो गई। मृत्यु का कारण क्या था उसके लिए कोई कौन दोषी है, इसकी जांच की जा रही है।

Related Articles

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Back to top button