युवक की हत्या करके गोमती नदी में फेंका था उसके ही दो सगे भाइयों ने

घटनास्थल पर मिले दो बटन ओं के सहारे पुलिस ने किया खुलासा, नाना की संपत्ति बनी वारदात का कारण

जौनपुर। नेवासा पर अपने ननिहाल में रहने वाले युवक का शव गोमती नदी से बरामद होने के मामले का पर्दाफाश हो गया है। उसके हत्यारे उसके अपने रक्त संबंधी ही निकले। नाना की सम्पत्ति के लालच में दो लोगों ने अपने सगे भाई की हत्या करके शव को गोमती नदी में फेंक दिया था। शव बरामद होने के बाद हत्यारोपियों ने वादी के तौर पर अपने भाई के कत्ल की प्राथमिकी अज्ञात बदमाशों के नाम दर्ज कराई थी।
इसका खुलासा शव के पास से मिली शर्ट की दो बटनों के सहारे करने की जानकारी पुलिस ने दी है। पुलिस ने दोनों आरोपितों को गिरफ्तार करके अदालत के आदेश पर जेल भेज दिया है। अपर पुलिस अधीक्षक नगर संजय कुमार ने बताया कि इस मामले की जांच प्रभारी निरीक्षक योगेन्द्र यादव को सौंपी गयी थी। योगेन्द्र यादव ने अपनी टीम के साथ मौके पर टूटे मिले दो शर्ट की बटनों को आधार बनाकर आरोपितों की तलाश शुरू किया। अभी जांच पड़ताल चल ही रही रही थी कि मुखबिर से सूचना मिली कि हत्या किसी बदमाश ने नहीं बल्कि उसके दो सगे भाइयों शिवम यादव और सत्यम यादव ने ही किया है। पुलिस ने दोनों को हिरासत में लेकर पूछताछ किया तो मुखवीर की सूचना सही पायी गयी। मौके से मिला बटन शिवम यादव के शर्ट के ही थे। हत्यारोपितों ने बताया कि नाना की जमीन को पवन ने अपने नाम करा लिया था जिसके कारण हम लोगों ने उसे मौत के घाट उतारा है।
गौरतलब है कि लाइनबाजार क्षेत्र के कलीचाबाद गांव में गोमती नदी के किनारे बीते 21 नवम्बर की सुबह बक्शा थाना क्षेत्र के अभयचंदपट्टी गांव के निवासी पवन यादव पुत्र राजपति यादव का शव पाया गया था। युवक का शव मिलने के बाद से पूरे इलाके में सनसनी फैल गयी थी तथा परिवार वालों में कोेहराम मच गया था। मृतक के भाई शिवम यादव की तहरीर पर पुलिस अज्ञात बदमाशों के खिलाफ मुकदमा दर्ज करके हत्यारों की तलाश में लगी थी। खास बात यह भी है कि यदि अभियोजन पक्ष अदालत में यह कहानी सही साबित करने में सफल हो गया तो दोनों भाइयों को अपने भाई के कत्ल का गुनहगार बनने के बाद कानूनी तौर पर वह सम्पत्ति नहीं मिल पाएगी, जिसके लिए वारदात को अंजाम दिया गया। अदालत द्वारा सुनाई गई सजा भुगतनी पड़ेगी सो अलग।

Related Articles

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Back to top button