जौनपुर में नशीली दवाओं के अवैध कारोबार का एक बड़ा खुलासा सवा करोड़ की दवाएं बरामद

शाहगंज में एसटीएफ और एनसीबी की संयुक्त टीम ने पकड़ी सवा करोड़ की अवैध दवायें-6 गिरफ्तार

जौनपुर। जिले में नशे के तौर पर इस्तेमाल होने वाली दवाओं के अवैध कारोबार से संबंधित बड़ा खुलासा हुआ है, लेकिन इसे बड़े पैमाने पर हो रहे अवैध कारोबार का एक नमूना भर समझा जा रहा है। संबंधित समाचार के अनुसार शाहगंज तहसील मुख्यालय पर अयोध्या मार्ग स्थित एक ट्रांसपोर्ट के गोदाम से हो रहे अवैध ड्रग कारोबार का एसटीएफ और एनसीबी की संयुक्त टीम ने भंडाफोड़ करते हुए छः लोगों को गिरफ्तार किया है। खबर है कि एनसीबी लखनऊ को मुखबिर से सूचना मिली थी कि शाहगंज क्षेत्र से अवैध दवा कारोबार बड़े पैमाने पर महीनों से किया जा रहा है।

मोहरे नहीं खिलाड़ी को पकड़िए’ कहा सीसीडब्ल्यूए के अध्यक्ष ने

सोमवार की भोर में मुखबिर की सूचना पर एसटीएफ और एनसीबी की संयुक्त टीम ने नगर के अयोध्या मार्ग स्थित एक ट्रांसपोर्ट के गोदाम के बाहर खड़ी दो ट्रकों और गोदाम पर छापेमारी कर ट्रक में लदे करोड़ों के प्रतिबंधित फेंसाड्रिल लिंकट्स सीरप बरामद कर छह लोगों को मौके से गिरफ्तार कर लिया। छापेमारी करने आए एसटीएफ की टीम के चीफ अनिल कुमार सिंह ने बताया कि सूचना मिल रही थी कि शाहगंज से बड़ी तादाद में देश में प्रतिबंधित दवा को भेजने का काम देश के विभिन्न हिस्सों के साथ पड़ोसी देश बांग्लादेश और नेपाल तक किया जा रहा है। सूचना के आधार पर जानकारी इकट्ठा करके जब छापा मारा गया तो अयोध्या मार्ग स्थित गोदाम के सामने खड़े दो ट्रकों पर लदे प्लाईवुड व चावल की बोरियों के बीच प्रतिबंधित दवाएं लादी जा रही थीं।

टीम ने दोनों ट्रकों को कब्जे में लेते हुए मौके पर मौजूद ट्रांसपोर्ट संचालक को हिरासत में ले लिया। ट्रकों के साथ ही ट्रांसपोर्ट के गोदाम में बड़ी तादाद में (करीब 66 हजार शीशियां) प्रतिबंधित दवाएं बरामद हुई हैं। एसटीएफ के इंस्पेक्टर ने बताया कि बरामद अवैध दवाओं की अनुमानित कीमत एक करोड़ 34 लाख है। पकड़े गए आरोपितों जयसिंह पुत्र राधेश्याम (निवासी ग्राम लोहता थाना सरायख्वाजा), जाहिद पुत्र सिद्दीक, अमीन खान पुत्र राजू खान (निवासीगण हरियाणा), चंदन गुप्ता पुत्र राजकुमार (निवासी फैजाबाद रोड, भादी, थाना शाहगंज), जितेंद्र प्रजापति पुत्र अहिबरन (निवासी ग्राम मारूफपुर, थाना गौराबादशाहपुर), बृजेश सिंह पुत्र जगत सिंह (निवासी ग्राम तरसन, थाना गौराबादशाहपुर) का एसटीएफ ने राजकीय पुरुष चिकित्सालय से चिकित्सकीय परीक्षण करवा कर सभी आरोपितों और बरामद माल को अपने साथ ले गयी।

जिले के शाहगंज तहसील मुख्यालय से प्रतिबंधित दवाओं और कप सिरप की बड़ी खेप की बरामदगी पर प्रतिक्रिया व्यक्त करते हुए केमिस्ट एंड कॉस्मेटिक वेलफेयर एसोसिएशन के अध्यक्ष महेंद्र गुप्ता ने की प्रतिक्रिया दी। उन्होंने कहा मोहरे नहीं, खिलाड़ी पकड़िए। अपने वक्तव्य में उन्होंने कहा कि संगठन लगातार प्रतिबंधित दवाओं और कफ सिरप के अवैध व्यवसाय के खिलाफ विभाग को सजग करता आ रहा है। इतनी बड़ी मात्रा में हुई बरामदगी यह बताती है कि यहां कोई बड़ा खेल चल रहा है, लेकिन पकड़ा गया तो सिर्फ एक मोहरा है। पिछले दिनों इसी प्रतिबंधित कफ सिरप के मामले को लेकर जिला मुख्यालय के पांच से ज्यादा थोक विक्रेताओं के लाइसेंस सस्पेंड कर दिए गए थे, जिनको बाद में गुपचुप तरीके से फिर से बहाल कर दिया गया। इतना ही नहीं इन्हींही दवा विक्रेताओं को थोक दवा बिक्री के नए लाइसेंस भी जारी कर दिए गए।

Related Articles

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Back to top button