गाजीपुर में करोड़ों की संपत्ति के लिए बेऔलाद दम्पत्ति की हत्या करने जा रहे 4 शातिर गिरफ्तार

बिहार का निवासी युवक जौनपुर के दो शूटरों और अपने अपराधी मित्र के साथ मिल कर करवाना चाहता था अपने ही बड़े पिता और बड़ी मां की हत्या ,कोतवाली पुलिस और एसओजी को सफलता, पुलिस अधीक्षक देंगे 10 हजार का इनाम और प्रशस्ति पत्र .

जौनपुर। गाजीपुर में करोड़ों की संपत्ति का जबरन वारिस बनने की नीयत से अपने ही वृद्ध बड़े पिता और बड़ी मां की हत्या करवाने जा रहे बिहार के एक युवक को पुलिस ने तीन अपराधियों के साथ गिरफ्तार किया है। इनमें दो शूटर हैं, जिन्होंने हत्या की सुपारी ली थी। प्रभारी निरीक्षक कोतवाली संजीव कुमार मिश्र एवं एस.ओ.जी. टीम के प्रभारी निरीक्षक पर्व कुमार सिंह और सर्विलांस प्रभारी रामजनम यादव ने अपनी अपनी टीम के साथ संयुक्त रूप से सिपाह तिराहे के पास से इन दो अन्तर्जनपदीय शूटरों के साथ चार अपराधियों को अवैध असलहों व कारतूस के साथ गिरफ्तार किया है। पुलिस के मुताबिक गिरफ्तार किए गए अपराधियों ने कबूला है कि वे गाजीपुर में एक पति पत्नी की हत्या करने जा रहे थे।

एएसपी सिटी डाॅ. संजय कुमार ने मामले की जानकारी देते हुए सोमवार को पत्रकारों से कहा कि गिरफ्तार अभियुक्तों में से आनन्द कुमार सिंह ने बताया कि ‘मेरे पिताजी तीन भाई हैं। मेरे बड़े पिता एवं माता जिनके हिस्से की 08 एकड़ जमीन है। अपने हिस्से की 8 एकड़ जमीन गाँव के ही सुमन्त सिंह को बेचने वाले हैं। मौजूदा समय में इसकी कीमत करीब 2 करोड़ रुपया है और जमनिया में एक मकान है, जिसकी कीमत लगभग 50-60 लाख है। उसको अपने साले को देना चाह रहे हैं, मेरे बड़े पिता की कोई सन्तान नहीं है। आनन्द कुमार सिंह ने सम्पत्ति का वारिस बनने के लिए अपने बड़े पिता एवं माता की हत्या करने की बात अपने दोस्त दीपक सिंह से बतायी तो दीपक ने कहा कि मैं शूटरो की व्यवस्था करता हूँ काम हो जायेगा। इसके लिए शूटरों को 10 लाख रुपया देना तय हुआ था। असलहों की भी व्यवस्था हो गयी है।

दीपक और आनन्द के द्वारा इस हत्याकांड को अन्जाम देने के लिए शुभम सिंह उर्फ रजनीश सिंह व सुरेन्द्र यादव उर्फ राजित उर्फ लम्बू से बात तय हुयी तथा दोनों शूटर हत्या करने के लिए तैयार हो गये। आनन्द और दीपक दोनों शूटरों को लेकर जौनपुर से जमनिया ले जाते, जहाँ उपरोक्त पति-पत्नी की हत्या होनी थी। इसी वजह से आनन्द सिंह , दीपक के साथ शूटर शुभम सिंह व लम्बू यादव से मिला तथा चारों बस से आज गाजीपुर जाकर जमनिया पहुंचते और वहाँ आनन्द अपने बड़े पिता व बड़ी माता की पहचान करवाता और घर दिखाता। हत्या होने के बाद इनको रुपया देता। उपरोक्त के आधार पर चारों अभियुक्तों के विरुद्ध थाना कोतवाली पर मु.अ.सं. 36/21 धारा 115/120बी भादवि पंजीकृत किया गया।

अभियुक्त शुभम सिंह उर्फ रजनीश सिंह पुत्र त्रिभुवन सिंह (निवासी कोतवालपुर थाना जलालपुर) के कब्जे से एक तमन्चा 315 बोर जिसकी बरामदगी के आधार पर थाना कोतवाली पर मु.अ.सं. 37/21 धारा 3/25 पंजीकृत किया गया। अभियुक्त सुरेन्द्र यादव उर्फ राजित उर्फ रंजीत यादव उर्फ लम्बू पुत्र विजय बहादुर यादव (निवासी राजेपुर, थाना जलालपुर, जनपद जौनपुर) के कब्जे से एक तमन्चा 315 बोर जिसकी बरामदगी के आधार पर थाना कोतवाली पर मु.अ.सं. 38/21 धारा 3/25 पंजीकृत किया गया। अभियुक्त दीपक सिंह पुत्र दयाशंकर सिंह उर्फ जंगबहादुर सिंह (निवासी मनहन, थाना जलालपुर, जौनपुर) के कब्जे से दो अदद जिन्दा कारतूस 315 बोर जिसकी बरामदगी के आधार पर थाना कोतवाली पर मु.अ.सं. 39/21 धारा 3/25 पंजीकृत किया गया। अभियुक्त आनन्द कुमार सिंह पुत्र प्रभु नारायन सिंह (निवासी सराय, थाना रामगढ़, जनपद कैमूर राज्य बिहार) के कब्जे से दो अदद जिन्दा कारतूस 315 बोर जिसकी बरामदगी के आधार पर थाना कोतवाली पर मु.अ.सं. 40/21 धारा 3/25 पंजीकृत किया गया।

अभियुक्त शुभम सिंह उर्फ रजनीश सिंह पर थाना जलालपुर में चार मुकदमे मु.अ.सं. 05/19 धारा 379/411 भादवि , मु.अ.सं. 122/18 धारा 323/504/506 भादवि व 3(1)द एससी/एसटी एक्ट, मु.अ.सं. 338/19 धारा 460 भादवि और मु.अ.सं. 1369/17 धारा 323/504/506 भादवि व 3(1)द एससी/एसटी एक्ट पहले से ही दर्ज हैं। अभियुक्त सुरेन्द्र यादव उर्फ राजित उर्फ रंजीत यादव उर्फ लम्बू पर भी मु.अ.सं. 68/18 धारा 363/366 भादवि व 7/8 पाक्सो एक्ट थाना जलालपुर जौनपुर में दर्ज है। गिरफ्तारी टीम में उप निरीक्षक गोविन्द देव मिश्र, हेड कांस्टेबल बब्बन सिंह चौहान,जयशील तिवारी, रामकृत यादव एवं जितेन्द्र बहादुर, कां.राहुल कुमार सिंह, कां.विपिन यादव,का. श्वेत एवं प्रकाश सिंह भी शामिल रहे। अपर पुलिस अधीक्षक डॉ. संजय कुमार ने पत्रकारों को यह भी बताया कि पुलिस अधीक्षक राजकरन नय्यर ने इस सफलता के लिए संबंधित पुलिस टीम को ₹10000 का इनाम और प्रशस्ति पत्र देने की घोषणा किया है।

Related Articles

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Back to top button